Shadow

रायपुर: आज से पंडरी, मालवीय रोड समेत प्रमुख बाजार खुले, दिन-समय का पालन नहीं तो कार्रवाई

रायपुर | राजधानी में सोमवार से पंडरी कपड़ा मार्केट, गोलबाजार, एमजी रोड और मालवीय रोड की दुकानें खुलेंगी। हालांकि इसके लिए प्रशासन ने दिन और समय तय किया है। इसका उल्लंघन करने पर कारोबारियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। प्रमुख बाजार खुलने के साथ ही अब व्यापारियों ने सराफा और मोबाइल कारोबार खुलवाने के लिए लॉबिंग तेज कर दी है।

संकेत मिले हैं कि दोनों ही कारोबार इसी हफ्ते किसी भी दिन शुरू करने की अनुमति प्रशासन दे सकता है। हालांकि इन बाजारों के लिए भी दिन और समय निर्धारित किए जाएंगे। दरअसल इन कारोबारों से जुड़े व्यापारिक संगठनों ने रविवार को दोपहर से रात तक सांसद, विधायकों और अफसरों से मुलाकात कर पक्ष रखा। इसीलिए प्रशासन सहमत है कि इन दुकानों को भी सशर्त खुलने की अनुमति दी जा सकती है।

राजधानी के विधायक कुलदीप जुनेजा और विकास उपाध्याय ने रविवार को व्यापारियों के साथ सीएम भूपेश बघेल से मुलाकात की और उन्हें बताया कि शासन की तरफ से दी जा रही राहतों का व्यापारियों को फायदा होगा। दूसरी ओर कैट अध्यक्ष अमर पारवानी ने दावा किया कि कैट के प्रयास से ही बाजार खुले। इसके बाद छत्तीसगढ़ चैंबर के अध्यक्ष जितेंद्र बरलोटा और कार्यकारी अध्यक्ष ललित जैसिंघ ने बयान जारी कर कहा कि चैंबर लगातार सीएम से बात कर रहा था, इसके बाद ही यह फैसला हुआ है। प्रदेश कांग्रेस व्यापार प्रकोष्ठ ने भी दावा किया कि उनके प्रयास से बाजार खुल रहा है।

सराफा-मोबाइल दुकानों को भी अनुमति जल्द

मोबाइल, सराफा, स्टील और बर्तन दुकानें नहीं खोलने से नाराज व्यापारिक संघ दिनभर सक्रिय रहे। मालवीय रोड, सदरबाजार, शारदा चौक, नयापारा, रविभवन, बंजारी चौक व्यापारी संघों के पदाधिकारियों ने रविवार को सांसद सुनील सोनी, विधायक कुलदीप जुनेजा, विकास उपाध्याय और कलेक्टर से मुलाकात की। सांसद और विधायक ने मौके पर ही कलेक्टर से फोन पर बात की। कारोबारियों ने इस बात पर नाराजगी जाहिर की सभी बाजारों को छूट दी गई, लेकिन इन बाजारों को अभी भी नहीं खोला जा रहा है।

कैट प्रदेशाध्यक्ष अमर पारवानी के नेतृत्व में व्यापारी सभी अफसरों के पास पहुंचे। इसके बाद व्यापारियों को भरोसा दिलाया गया कि इस हफ्ते सराफा और मोबाइल दुकानों को भी अनुमति दे दी जाएगी। मुलाकात के दौरान पूर्व विधायक श्रीचंद सुंदरानी, महामंत्री लालचंद गुलवानी, तरल मोदी, राजेश वासवानी, अजीत सिंह कैंबो, मांगीलाल मालू भंसाली आदि मौजूद थे।

ऑटोमोबाइल शो-रूम ही क्यों बंद?

प्रशासन ने सभी दो-चार पहिया वाहनों की सर्विसिंग की अनुमति दे दी है, लेकिन शो रूम से गाड़ियां बेचने की अनुमति नहीं दी है। इससे नाराज ऑटोमोबाइल एसोसिएशन ने परिवाहन मंत्री मोहम्मद अकबर से मुलाकात की। रायपुर ऑटोमोबाइल एसोसिएशन के अध्यक्ष मनीषराज सिंघानिया और संरक्षक अमर पारवानी के नेतृत्व में पहुंचे ऑटोमोबाइल कारोबारियों ने बताया कि सर्विसिंग सेंटर में सभी नियमों का पालन किया जा सकता है तो शो-रूम में भी। इसलिए गाड़ियों की खरीदी-बिक्री की भी अनुमति देनी चाहिए। इससे राज्य सरकार का राजस्व भी बढ़ेगा।

RO-11274/73

Leave a Reply