Shadow

Tag: kondagaon

कोण्डागांव : कोरोना काल में भी कलीपारा के बच्चों में विद्या के पुष्प खिला रही है ‘वंदना‘ : खेल-खेल में बच्चों को मिल रही है देश-प्रदेश की जानकारी

कोण्डागांव : कोरोना काल में भी कलीपारा के बच्चों में विद्या के पुष्प खिला रही है ‘वंदना‘ : खेल-खेल में बच्चों को मिल रही है देश-प्रदेश की जानकारी

chhattisgarh
कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौर में जहां सारी दुनिया रूक सी गई थी वहीं इस महामारी का सबसे अधिक प्रभाव बच्चों की पढ़ाई पर पड़ा है। जहां वे स्कूलों में जाने से वंचित हुए वहीं पढ़ाई करने की रूचि भी बच्चों में कम होती गई। ऐसी स्थिति को देखते हुए बच्चों में विद्या की अलख निरंतर जलाये रखने के लिए विकासखण्ड कोण्डागांव के ग्राम पंचायत कोकोड़ी के अंतर्गत आने वाली प्राथमिक शाला कलीपारा में सहायक शिक्षक के रूप में पदस्थ वंदना मरकाम द्वारा लगातार शिक्षा से जुड़े नवाचारों के माध्यम से बच्चों को पढ़ाने का प्रयास किया गया। इस संबंध में शिक्षिका वंदना मरकाम ने बताया कि मार्च में लाॅकडाउन की शुरूवाती दिनों में वे बच्चों की पढ़ाई के लिए निरंतर चिंतित रहती थीं, परन्तु ‘पढ़ई तुंहर द्वार‘ कार्यक्रम के शुरू होने से उन्होंने इसके माध्यम से पढ़ाना शुरू किया। नेटवर्क कनेक्टिविटी, जागरूकता की कमी एवं सभी के पास मोबाईल ...
रायपुर : सावधानी और बचाव ही कोरोना वायरस से बचने का बेहतर उपाय : स्वस्थ हुए शन्मुख राव ने बताई आप बीती

रायपुर : सावधानी और बचाव ही कोरोना वायरस से बचने का बेहतर उपाय : स्वस्थ हुए शन्मुख राव ने बताई आप बीती

chhattisgarh
रायपुर. कोरोना संक्रमण के बाद स्वस्थ्य हो चुकेे कोण्डागांव जिला मुख्यालय के 40 वर्षीय श्री शन्मुख राव कोरोना पाॅजिटिव से नेगेटिव होने तक के अनुभव साझा करते हुए कहते हैं कि राज्य सरकार का स्वास्थ्य विभाग कोरोना संक्रमण को गंभीरता से लेते हुए मुस्तैदी के साथ काम कर रहा है। जिला अस्पताल में भी प्रारंभिक उपचार की पर्याप्त दवाईयां उपलब्ध हैं। अस्पतालों के स्टाॅॅॅफ की सेवा व उपचार की बदौलत वे कम से कम समय में इस व्याधि से मुक्ति पा चुके हैं। श्री शन्मुख राव ने यह भी बताया कि लोगो को कोरोना संक्रमण के लक्षण उभरने पर तत्काल स्वास्थ्य जांच कराना चाहिए। प्राथमिक परीक्षण और जांच पड़ताल में लापरवाही नहीं बरतना चाहिए। यह न केवल स्वयं के लिए बल्कि परिवार व आस-पड़ोस के लोगों के स्वास्थ्य के लिए गंभीर मुद्दा है। कई बार लोग संक्रमण के प्रति लापरवाही बरतते हुए परीक्षण कराने से बचते हैं जबकि यही स्थिति ...
कोण्डागांव : होम क्वारेंटाइन का उल्लघंन करने वालो के खिलाफ होगी एफआईआर : दुकानो में सोशल डिस्टैन्सिंग एवं ’नो मास्क नो गुड’ का पालन ना करने पर होगी सख्त कार्यवाही

कोण्डागांव : होम क्वारेंटाइन का उल्लघंन करने वालो के खिलाफ होगी एफआईआर : दुकानो में सोशल डिस्टैन्सिंग एवं ’नो मास्क नो गुड’ का पालन ना करने पर होगी सख्त कार्यवाही

Uncategorized
कोण्डागांव। जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए कलेक्टर के आदेश पर कोण्डागांव में 25 से 31 जुलाई तक लगाये गये जिला स्तरीय लाॅकडाउन के प्रथम दिन कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला स्तरीय कोविड कोर कमेटी की बैठक कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा एवं पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। इस बैठक में कलेक्टर ने जिले में कम्युनिटी स्प्रेड की दशा को रोकने के लिए लाॅकडाउन का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिये। इसके लिए उन्होने कोरोना संक्रमित मरीजो की संख्या वृद्धि से चिंतित ना होकर कान्टेक्ट ट्रेसिंग पर ध्यान केन्द्रित करने को कहा। टेस्ट को बढ़ाकर जितने भी अधिक संक्रमितो की जानकारी इक्ट्ठा की जा सके वह कोरोना के संक्रमण को रोकने मे सहायक होगी। इसके लिए लाॅकडाउन के प्रतिबंधो का कड़ाई से पालन कराने के लिए जिला एवं पुलिस प्रशासन रोजाना मैदानी स्तर पर कार्य करेंगे साथ ...
धान खरीदी केंद्रों में चबूतरा निर्माण का काम 15 जुलाई तक पूर्ण करने के निर्देश : पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव ने की विभागीय कार्यों की समीक्षा

धान खरीदी केंद्रों में चबूतरा निर्माण का काम 15 जुलाई तक पूर्ण करने के निर्देश : पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव ने की विभागीय कार्यों की समीक्षा

chhattisgarh, special
रायपुर. पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रमुख सचिव श्री गौरव द्विवेदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए सभी जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने मनरेगा, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन और स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अंतर्गत प्रदेश भर में हो रहे कार्यों की विस्तृत जानकारी लेकर उनकी प्रगति की समीक्षा की। वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रमुख सचिव श्री द्विवेदी के साथ पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव और मनरेगा आयुक्त श्री टी.सी. महावर, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के संचालक श्री नीलेश क्षीरसागर तथा स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के संचालक श्री धर्मेश साहू भी मौजूद थे। प्रमुख सचिव श्री द्विवेदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस में मनरेगा अभिसरण से धान खरीदी केंद्रों में बन रहे पक्के चबूतरों के निर्माण में तेजी लाते हुए इन्हें 15 जुलाई तक...
कोण्डागांव : कलेक्ट्रेट में लगी 10 वीं कक्षा के ’आयुष’ की सेनेटाइजेशन टनल

कोण्डागांव : कलेक्ट्रेट में लगी 10 वीं कक्षा के ’आयुष’ की सेनेटाइजेशन टनल

chhattisgarh
कोण्डागांव. कोरोना वाइरस का प्रसार आज विश्वव्यापी रूप से हो रहा है एवं अब तक इसकी कोई प्रमाणित दवाईंया खोजी ना जा सकी है। ऐसे मे कोरोना वाइरस से बचाव का एक मात्र स्वंय को स्वच्छ रखकर एवं मास्क लगाकर इससे बचाव किया जा सकता है। जहां विभिन्न सरकारे एवं राष्ट्र करोड़ो रूपये लगाकर इससे लोगो की सुरक्षा का प्रयास कर रहें है। वहीं कोण्डागांव के एक 10 वीं कक्षा के सरगीपाल निवासी आयुष श्रीवास्तव ने कम कीमत पर कबाड़ की वस्तुओं से सेनेटाइजेशन टनल बनाकर लोगो की सुरक्षा का प्रयास किया है। इसके लिए आयुष ने घर के आस पास व्यर्थ पड़ी समाग्री का उपयोग कर सेनेटाइजेशन टनल बनाने का प्रयास किया। जिसके लिए उसने अपने आस-पास पड़ी प्लास्टिक की पाइपो सेे फ्रेम का निर्माण कर कबाड़ से मोटर निकाल टनल के मुख्य हिस्सो का निर्माण किया। इस प्रकार कबाड़ से जुगाड़ के माध्यम से लोगो को राहत पंहुचाने के लिए आयुष ने लॉकडाउन के ल...
राजीव गांधी किसान न्याय योजना किसानो के लिए बनी संजीवनी : योजना से प्राप्त राशि से किसान संवार रहे है अपने खेत-खलिहान

राजीव गांधी किसान न्याय योजना किसानो के लिए बनी संजीवनी : योजना से प्राप्त राशि से किसान संवार रहे है अपने खेत-खलिहान

chhattisgarh, Govt Schemes, special
कोण्डागांव जिले के ग्राम कमेला मे लगभग 60 से 70 कृषक राजीव गांधी किसान न्याय योजना से लाभान्वित हुए है। गांव के किसान श्री कालिन्द्र लाल पाण्डे बताते है कि उन्हे योजना के तहत् 19 हजार रूपये की पहली किस्त प्राप्त हुई। जिसका उपयोग वे अपने 4 बच्चो की शिक्षा और आधी राशि का उपयोग कृषि कार्य में खर्च करेंगे, जिससे इस साल और ज्यादा फसल उत्पादन हो सके। एक अन्य कृषक फनिद्र ने बताया कि उनके पास 3 एकड़ की भूमि है जिसमे वे धान, उड़द जैसी फसल लेते है, उन्होंने इस वर्ष 50 से 60 हजार क्विंटल का मक्का विक्रय किया है और योजना के अतंर्गत उनको 8 हजार रूपये की पहली किस्त भी प्राप्त हई है और सम्पूर्ण किस्त के रूप में उनको 72 हजार रूपये की राशि मिलेगी। वे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का आभार व्यक्त करते हुए कहते है कि यह योजना हर किसान के लिए वरदान है। एक है। कृषक लक्ष्मण सिंह ने सरकार को धन्यवाद देते हुए क...
कोण्डागांव : ‘रघुराम‘ के सपनों को मिली ट्रेक्टर से उड़ान : विधायक एवं कलेक्टर ने किसान को दी उसके सपनों की चाबी

कोण्डागांव : ‘रघुराम‘ के सपनों को मिली ट्रेक्टर से उड़ान : विधायक एवं कलेक्टर ने किसान को दी उसके सपनों की चाबी

chhattisgarh, Govt Schemes, special
कोण्डागांव. सपने कई लोग देखा करते हैं पर उन्हें साकार करने का दम कुछ ही रखते हैं, ऐसे ही स्वप्नशील जनजातीय समुदाय के प्रयत्नशील कृषकों को राज्य सरकार की अनुसूचित जन जाति ट्रेक्टर ट्राली योजना द्वारा उनके सपनों को पंख लगाने का प्रयत्न किया जा रहा है। ज्ञात हो कि रघुराम नाग, पिता रामसाय नाग विकासखण्ड बडे़राजपुर के एक छोटे से गांव ढोन्ढरा का एक कृषक है जो की अपनी पुश्तैनी बारह एकड़ भूमि पर वर्षों से कृषि कार्य में कार्यरत है। उंसके द्वारा आधुनिक कृषि पर रुचि देख कर जिला अंत्यावसायी सहकारी समिति के कार्यपालन अधिकारी बाबू भाई श्रीवास ने इस संबंध में जानकारी प्रदान की। इसके पश्चात उसने कलेक्टोरेट में स्थित जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति कार्यालय में संपर्क कर अनुसूचित जनजाति ट्रेक्टर ट्राली योजना के तहत ऋण से ट्रेक्टर प्राप्त करने की योजना का लाभ लेकर कृषि कार्य को और बेहतर बनाने की इ...
कोण्डागांव में पुलिस के अधिकारियों एवं कर्मचारियों का किया गया कोरोना टेस्ट

कोण्डागांव में पुलिस के अधिकारियों एवं कर्मचारियों का किया गया कोरोना टेस्ट

chhattisgarh, Govt Schemes, special
कोण्डागांव. राज्य के पुलिस महानिदेशक डी एम अवस्थी की विशेष पहल पर विगत् दिनांक 30 अप्रैल से कोण्डागांव में पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट और हेल्थ चेकअप प्रारम्भ किया गया। वर्तमान में पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारी, लॉकडाउन को प्रभावी तरीके से लागू कराने में फील्ड पर डटे हुए है एवं आम नागरिकों के सीधे संपर्क में भी है। जिस कारण पुलिसकर्मियों में भी कोरोना के संक्रमण का खतरा बना हुआ है। चूंकि पुलिसकर्मी कोरोना और जनता के बीच एक ढाल के तौर पर खड़े है जिस कारण उन्हें भी संक्रमण मुक्त रहना आवश्यक है, तभी आम नागरिकों की बेहतर सुरक्षा सुनिश्चित की जा सकती है। मैदानी रूप में कार्यरत एवं 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों की प्राथमिकता के आधार पर होगी जांच इन्हीं तथ्यों को ध्यान में रखकर पुलिस अधीक्षक बालाजी राव सोमवार के दिशा निर्देशन पर जिले के पुलि...
कोण्डागांव : आंगनबाड़ी कार्यकर्ताएं घर-घर जाकर माताओं एवं बच्चो को बांट रही है पोशक आहार : लॉकडाउन में भी प्रशासन की कुपोशण से जंग जारी

कोण्डागांव : आंगनबाड़ी कार्यकर्ताएं घर-घर जाकर माताओं एवं बच्चो को बांट रही है पोशक आहार : लॉकडाउन में भी प्रशासन की कुपोशण से जंग जारी

chhattisgarh, Govt Schemes
कोण्डागांव. विगत दिनों कोरोना वायरस से फैली बीमारी के कारण हुए देशव्यापी तालाबंदी से छत्तीसगढ़ शासन की विभिन्न योजनाएं प्रभावित हुई हैं। इसी तरह इस तालाबंदी से राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान जिसका लक्ष्य राज्य के प्रत्येक व्यक्ति को सुपोशित करना है, इसके भी प्रभावित होने की आशंका बनी हुई थी, जिसे गंभीरता से लेते हुए राज्य शासन ने इस आपदा स्थिति में भी इस योजना को अनवरत चालू रखने के लिए हितग्राहियों को सूखा राशन घर तक पहुंचाने का निर्णय लिया। इसके अंतर्गत कोण्डागांव जिले में कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम के निर्देश पर सूखे राशन का वितरण का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। इस योजना अंतर्गत जिले में प्रथम चरण में 36 पंचायतों में 26175 हितग्राहियों तथा द्वितीय चरण में 18 पंचायतों के अंतर्गत 7525 हितग्राहियों को लक्षित किया गया था। इस तरह कुल 54 पंचायतों के 33750 ह...
कोंडागांव: 4 झरनों के बीच उपरबेदी की पहाड़ी पर मिले शैलचित्र, इन शैलचित्र में महिलाओं और पुरुषों के चित्र बने हुए हैं, अब होगा रिसर्च

कोंडागांव: 4 झरनों के बीच उपरबेदी की पहाड़ी पर मिले शैलचित्र, इन शैलचित्र में महिलाओं और पुरुषों के चित्र बने हुए हैं, अब होगा रिसर्च

chhattisgarh, special
कोंडागांव | केशकाल से करीब 20 किलोमीटर दूर है उपरबेदी की पहाड़ी। ग्राम पंचायत रावबेड़ामारी का आश्रित ग्राम उपरबेदी एक छोटा सा गांव है। यहां तक पहुंच पाना आसान नहीं है, कच्चे और ऊबड़-खाबड़ रास्ते और उनके बीच से बहते हुए नाले यहां तक आने में परेशानी का सबब बनते हैं। लेकिन यहां पहुंचते ही उपरबेदी की पहाड़ी पर शैलचित्र इतिहास की झलक दिखाते हैं। इस पहाड़ी पर बने शैलचित्र थोड़े खास हैं। इन शैलचित्र में महिलाओं और पुरुषों के चित्र बने हुए हैं। कलेक्टर के अनुसार इस पूरे क्षेत्र को पर्यटन के लिए विकसि करने प्रोजेक्ट बनाकर पर्यटन विभाग को भी भेजा गया है। उपरबेदी की पहाड़ी पर मिले शैलचित्रों के आधार पर अब फूलों की घाटी के नाम से विख्यात मध्य बस्तर के प्रवेश द्वार केशकाल घाटी पर अव्यवस्थित शैलचित्र भी सुर्खियों में आ गए हैं। घाटी में तीन से चार स्थानों पर शैलचित्रों के होने के प्रमाण मिले हैं। ...