Shadow

Tag: corona virus

कोविड-19: डॉ. भीमराव अंबेडकर अस्पताल में अब तक 50 हजार से ज्यादा सैंपलों की जांच, रोजाना 1000-1200 सैंपलों की हो रही जांच

कोविड-19: डॉ. भीमराव अंबेडकर अस्पताल में अब तक 50 हजार से ज्यादा सैंपलों की जांच, रोजाना 1000-1200 सैंपलों की हो रही जांच

chhattisgarh, News
रायपुर | राजधानी स्थित डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय द्वारा कोविड-19 की पहचान के लिए अब तक 50 हजार से ज्यादा सैंपलों की जांच की जा चुकी है। पंडित जवाहर लाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के माइक्रोबायोलॉजी विभाग द्वारा स्थापित इस उच्च स्तरीय वायरोलॉजी लैब में विभिन्न जिलों से प्राप्त एक हजार से 1200 सैंपलों की जांच रोज की जा रही है। सैंपलों की आर.टी.पी.सी.आर. जांच के लिए यहां आई.सी.एम.आर. के मापदण्डों के अनुरूप उच्च स्तरीय बी.एस.एल.-2 लैब विकसित किया गया है। रायपुर चिकित्सा महाविद्यालय के इस अत्याधुनिक लैब में 6 जुलाई तक कोविड-19 संभावितों के 52 हजार 460 सैंपलों की जांच की जा चुकी है। इनमें से 1230 सैम्पलों की रिपोर्ट  पॉजिटिव आई है। चिकित्सा महाविद्यालय के माइक्रोबायोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. अरविंद नेरल ने विभाग के विशेषज्ञों, डॉक्टरों, तकनीशियनों तथा अन्य स्टॉफ के समर्पण की ...
कटघोरा के प्रभावित क्षेत्र के हर व्यक्ति का टेस्ट होगा, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव और कलेक्टर को जारी किए निर्देश

कटघोरा के प्रभावित क्षेत्र के हर व्यक्ति का टेस्ट होगा, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव और कलेक्टर को जारी किए निर्देश

chhattisgarh, News
रायपुर | राज्य के कोरबा जिले के कटघोरा में एक साथ 7 पॉजिटिव कोरोना वायरस पीड़ित मिलने पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव और कलेक्टर को कटघोरा के प्रभावित क्षेत्र को सीलबंद करने और वहां के हर व्यक्ति का टेस्ट कराने का निर्देश दिया है । कटघोरा के लिए उन्होंने एक विशेष टीम बनाने के भी निर्देश दिए जो पूर्णतः कटघोरा के लिए ही समर्पित रहेगी। उन्होंने कहा कि कटघोरा के प्रभावित क्षेत्र में पिछले 20 दिनों में आनेजाने वाले और उनसे संपर्क रखने वाले सभी व्यक्तियों की पहचान कर उन्हें क्वारंटाइन किया जाये। उन्होंने कहा कि इस अवधि में इस क्षेत्र में कार्यरत सभी चिकित्सको , स्वास्थ्य कार्यकर्ताओ और अन्य शासकीय कर्मियों का भी टेस्ट कराया जाये। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि कटघोरा के लिए विशेष वार रूम बनाकर तत्काल युद्धस्तर पर कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि यह खबर थो...
कोराेना वायरस: कटघोरा बना छत्तीसगढ़ का कोरोना हॉटस्पॉट, 7 नए मरीज मिले

कोराेना वायरस: कटघोरा बना छत्तीसगढ़ का कोरोना हॉटस्पॉट, 7 नए मरीज मिले

chhattisgarh, News
कोरबा | छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले का कटघाेरा कस्बा प्रदेश में कोरोना का हॉटस्पॉट बनकर सामने आया है। कटघोरा में 7 और लोगों में गुरुवार को कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें पांच पुरूष और दो महिलाएं शामिल हैं। पिछले 20 घंटों में कोरबा में 8 नए मामले सामने आए। इससे पहले पूरे इलाके को सील कर दिया गया था। कोरबा कलेक्टर किरण कौशल ने नए मामलों की पुष्टि की है। कोरबा जिले के कटघोरा में एक साथ 7 पॉजिटिव कोरोना वायरस पीड़ित मिलने पर कटघोरा को सीलबंद करने और वहां के हर व्यक्ति का टेस्ट कराने का निर्देश दिया है। कटघोरा के लिए एक विशेष टीम बनाने के भी निर्देश दिए हैं जो पूर्णतः कटघोरा के लिए ही समर्पित रहेगी। — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) April 9, 2020 दरअसल, रविवार को कटघोरा की मस्जिद में 16 साल के तब्लीगी जमाती में कोरोना की पुष्टि हुई थी। उसके बाद उसके संपर्क में आए करीब 200 लोगों को होम ...
पीएम मोदी के आव्हान पर आज रात 9 बजे 9 मिनट तक जगमायेगा उम्मीदों का दिया, कोरोना के खिलाफ एकजुट होगा देश

पीएम मोदी के आव्हान पर आज रात 9 बजे 9 मिनट तक जगमायेगा उम्मीदों का दिया, कोरोना के खिलाफ एकजुट होगा देश

chhattisgarh, News, Videos
रायपुर | कोराेनावायरस के संक्रमण के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार रात 9 बजे 9 दीये जलाने या फिर टाॅर्च की रोशनी करने की अपील की है। ऐसे में लोगों ने घरों से दिवाली के दीये निकालने शुरू कर दिए हैं। वहीं, बाजार में दुकानों के बाहर एक बार फिर दीये सज गए। कई तो ऐसे लोग भी हैं, जो खरीदारी करने के लिए पहुंचे। लोगों का कहना है कि यह एकजुटता दिखाने का समय है। बस्तर और गरियाबंद सहित कुछ जिलों में हिंदू संगठनों ने दीये जलाने के लिए लोगों को जागरूक किया है। https://www.youtube.com/watch?v=qo_T0lAuekg वहीं, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि यह खुशी मनाने का समय नहीं है। हालांकि, इस बीच लोगों से भीड़ नहीं लगाने और घरों से बाहर नहीं निकलने की भी अपील की गई है। धमतरी समेत कुछ जिलों में लोगों ने इसे सही नहीं माना है। उनका कहना है कि ऐसे समय में दीये जलना सही नहीं है। मदद और अन्य जरूरत...
रायपुर: पुलिस सख्त, बेवजह घूमने वालों की गाड़ियां जब्त, अधिकारियों पर भी कार्रवाई; गश्त पर निकले कलेक्टर-एसपी

रायपुर: पुलिस सख्त, बेवजह घूमने वालों की गाड़ियां जब्त, अधिकारियों पर भी कार्रवाई; गश्त पर निकले कलेक्टर-एसपी

chhattisgarh, News
रायपुर | शहर में लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाने अब पुलिस सख्त रुख अपना रही है। शहर के जय स्तंभ चौक पर शनिवार को घरों से निकले लोगों को रोका गया। बेवजह घूमता पाए जाने पर लोगों की गाड़ियां जब्त कर ली गईं, कुछ लोगों को समझाइश देकर वापस घर भेज दिया गया। सुबह रायपुर के एएसपी, एसपी, डीएसपी और कलेक्टर समेत प्रशासनिक अधिकारियों का दस्ता सड़कों पर सायरन को शोर के साथ निकला। इस काफिले का संदेश एक ही है कि आम लोग घरों पर ही रहें। 21 दिन के लॉकडाउन ने 11 दिन पूरे कर लिए है। https://youtu.be/j9UHdlnBg3s रायपुर एसएसपी की पोस्ट कलेक्टर ने थमाया नोटिस कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने नगर सैनिक के जिला सेनानी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। दरअसल कलेक्टर ले कोरोनावायरस आपदा प्रबंधन के काम में लगे अनुविभागीय दंडाधिकरियों, पुलिस अधिकारियों और नगर निगम ,रायपुर के जोन कमिश्नर्स की सुरक्षा के लिए एक-ए...
रायपुर: छत्तीसगढ़ की पहली कोरोना पॉजिटिव युवती पूरी तरह ठीक, सीएम ने ट्वीट कर दी जानकारी

रायपुर: छत्तीसगढ़ की पहली कोरोना पॉजिटिव युवती पूरी तरह ठीक, सीएम ने ट्वीट कर दी जानकारी

News
रायपुर | अभी-अभी एक राहत भरी खबर सामने आ रही है। छत्तीसगढ़ की पहली कोरोना पॉजिटिव युवती जो ब्रिटेन से लौटी थी, यह अब पूरी तरह ठीक हो गई है। युवती को थोड़ी ही देर में एम्स से डिस्चार्ज कर दिया गया है। सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट कर इस रहत भरी खबर की जानकारी दी है। #CoronaVirusUpdate छत्तीसगढ़ में सबसे पहली #COVID-19 पॉजिटिव युवती का पूरी तरह से इलाज हो गया है, अब वह पूर्णतः स्वस्थ है। 2 निगेटिव टेस्ट के बाद अस्पताल द्वारा उसे डिस्चार्ज कर दिया गया है। छत्तीसगढ़ में अब तक कुल 9 पॉजिटिव केस में से 4 इलाज करवाकर, स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। — Bhupesh Baghel (@bhupeshbaghel) April 3, 2020 लगातार 2 रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद एम्स प्रबंधन ने युवती को डिस्चार्ज करने का निर्णय लिया है। युवती को 28 दिनों तक लगातार क्वॉरेंटाइन में रहना होगा। समता कॉलोनी की युवती एम्स अस्पताल में 17 मार्च से...
कोरोना वायरस: दिल्ली मरकज और उनसे जुड़े 300 लोगों की हुई पहचान, सभी को भेजा गया होम क्वरैंटाइन

कोरोना वायरस: दिल्ली मरकज और उनसे जुड़े 300 लोगों की हुई पहचान, सभी को भेजा गया होम क्वरैंटाइन

chhattisgarh, News
रायपुर | दिल्ली मरकज लौटने वालों और उनसे लिंक रखने वाले 300 लोगों की पहचान पुलिस ने कर ली गई है। मोबाइल पर संपर्क कर सभी को भी होम क्वारेंटाइन कर दिया गया है। मेडिकल और प्रशासनिक अमले के माध्यम से उनके स्वाब का सैंपल लेकर जांच के लिए भेज भी दिया गया है। फिलहाल अब तक स्पष्ट नहीं हुआ है कि दिल्ली पुलिस से भेजी गई 159 की सूची में कितने लोग मरकज के कार्यक्रम में शामिल हुए थे। पुलिस और प्रशासनिक अमले ने जिन 300 लोगों की सूची तैयार की है, उनका मरकज या दिल्ली से लिंक है। मरकज के कार्यक्रम में शामिल होने वाले इन लोगों से मिले हैं। इन सभी को निगरानी में रखने के साथ उनके स्वाब का सैंपल भी जांच के लिए कलेक्ट कर लिया गया है। अब तक जिन लोगों के बारे में स्पष्ट है कि वे दिल्ली मरकज से लौटे हैं उनसे पुलिस पूछताछ कर रही है कि वे कितने दिनों तक वहां रहे? वे जब तक मरकज में रहे उस दौरान वहां क्या स्थि...
संकट की घड़ी में छत्तीसगढ़ सरकार का एक और बड़ा फैसला, मुख्यमंत्री बघेल ने बस-ट्रक ऑपरेटरों को 331 करोड़ की बकाया टैक्स, ब्याज व पेनाल्टी माफ़ की

संकट की घड़ी में छत्तीसगढ़ सरकार का एक और बड़ा फैसला, मुख्यमंत्री बघेल ने बस-ट्रक ऑपरेटरों को 331 करोड़ की बकाया टैक्स, ब्याज व पेनाल्टी माफ़ की

chhattisgarh, News
रायपुर | परिवहन विभाग द्वारा देश भर में लागू लॉकडाउन और भविष्य की व्यावसायिक स्थिति को देखेते हुए 31 मार्च 2013 तक बकाया टैक्स पेनाल्टी और ब्याज को पूरी तरह से माफ करने का निर्णय लिया गया है। इस महत्वपूर्ण निर्णय के तहत बस और ट्रक आपॅरेटरों को लगभग 221 करोड़ रूपए का फायदा होगा। इसके लिए राज्य शासन द्वारा संचालित एक मुश्त निपटान योजना के तहत बस-ट्रक ऑपरेटरों को वर्ष 2013 से 2018 तक शासन को देय राशि में से 110 करोड़ रूपए की पेनाल्टी को माफ किया जा रहा है। इस तरह परिवहन विभाग द्वारा वाहन मालिकों को कुल 331 करोड़ रूपए की राशि माफ की जा रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में 24 मार्च को आयोजित केबिनेट की बैठक में इस आशय का प्रस्ताव परिवहन तथा वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर द्वारा रखा गया था, इस प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री बघेल द्वारा बस-ट्रक ऑपरेटरों के हित को ध्यान में रखकर सहानुभूतिप...
कोरोना संक्रमण से स्वस्थ होकर लौटे भिलाई के युवक ने बताई अपनी कहानी, कहा- इस वायरस से डरने की जरुरत नहीं

कोरोना संक्रमण से स्वस्थ होकर लौटे भिलाई के युवक ने बताई अपनी कहानी, कहा- इस वायरस से डरने की जरुरत नहीं

chhattisgarh, News
रायपुर | बीते 25 मार्च को भिलाई से एक युवक के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी मीडिया के जरिए आम लोगों तक पहुंची। रात के तकरीबन दो बजे युवक को पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम अपने साथ एम्स रायपुर लेकर गई। यहां आते ही इस युवक को बताया  गया कि आपके सैंपल में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है, आपको अब यहीं रहकर इलाज करवाना होगा। मंगरवार 31 मार्च को इस युवक को स्वस्थ बताकर एम्स  से डिस्चार्ज कर दिया गया, अब पढ़िए इस बीच उस युवक की आपबीती जस की तस उसी के शब्दों में। मुझे एयरपोर्ट पर फिट बताया गया मैं 11 मार्च को सऊदी अरब से लौटा..तक तक कोरोना के भारत में संक्रमण की चर्चा थी, एयरपोर्ट पर हर यात्री की जांच की जा रही थी। मैं जब मुंबई एयरपोर्ट पहुंचा तो वहां भी सभी की स्क्रीनिंग की जा रही थी। मेरी भी जांच की गई। वहां कई तरह की मशीने लगीं थी, जांच के बाद वहां के एयरपोर्ट पर कहा गया कि मैं फिट हूं जा ...
कोरोना पर नई उम्मीद: भारत समेत जिन देशों में लंबे समय से बीसीजी का टीका लग रहा, वहां लोगों में कोरोनावायरस का खतरा कम

कोरोना पर नई उम्मीद: भारत समेत जिन देशों में लंबे समय से बीसीजी का टीका लग रहा, वहां लोगों में कोरोनावायरस का खतरा कम

india, News
नई दिल्ली | कोरोनावायरस को रोकने की कोशिशों में वैज्ञानिकों को नई उम्मीद दिखाई दी है। भारत में 72 साल से बीसीजी के जिस टीके का इस्तेमाल हो रहा है, उसे दुनिया अब कोरोना से लड़ने में मददगार मान रही है। न्यूयॉर्क इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के डिपार्टमेंट ऑफ बायोमेडिकल साइंसेस की स्टडी के मुताबिक, अमेरिका और इटली जैसे जिन देशों में बीसीजी वैक्सीनेशन की पॉलिसी नहीं है, वहां कोरोना के मामले भी ज्यादा सामने आ रहे हैं और मौतें भी ज्यादा हो रही हैं। वहीं, जापान और ब्राजील जैसे देशों में इटली और अमेरिका के मुकाबले मौतें फिलहाल कम हैं। सबसे पहले समझते हैं कि बीसीजी क्या है? इसका पूरा नाम है बेसिलस कामेट गुएरिन। यह टीबी और सांस से जुड़ी बीमारियों को राेकने वाला टीका है। बीसीजी को जन्म के बाद से छह महीने के बीच लगाया जाता है। दुनिया में सबसे पहले इसका 1920 में इस्तेमाल हुआ। ब्राजील जैसे देश में त...