Shadow

Tag: congress

कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक समाप्त, सोनिया गाँधी बनी रहेगी पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष, मुख्यमंत्री ने प्रस्ताव की कॉपी शेयर की

कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक समाप्त, सोनिया गाँधी बनी रहेगी पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष, मुख्यमंत्री ने प्रस्ताव की कॉपी शेयर की

chhattisgarh, india
रायपुर। कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक आज हुई। भारी गहमागहमी के बीच सोनिया गांधी को पार्टी का अध्यक्ष बना रहने दिया गया। सूत्रों के हवाले से पता चला है कि नए अध्यक्ष का चुनाव आने वाले छह महीनों के भीतर किया जाएगा। कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक सात घंटे तक चली। कांग्रेस नेता और CWC सदस्य केएच मनियप्पा ने बताया, मैडम (सोनिया गांधी) अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी और जल्द से जल्द अध्यक्ष का चुनाव किया जाएगा। यही बैठक में निर्णय लिया गया है। कांग्रेस की सीडब्ल्यूसी बैठक में शीर्ष नेताओं के बीच काफी तनातनी देखने को मिली। पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने गुलाम नबी आजाद समेत अन्य नेताओं को पत्र लिखने के लिए फटकार लगाई। उन्होंने नेताओं की चिट्ठी लिखने की टाइमिंग को लेकर आलोचना की और बीजेपी से सांठगांठ के आरोप भी लगाए। इससे वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद इतने आहत हुए कि उन्होंने इस्तीफा देने ...
गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने पुष्पांजलि देकर पूर्व प्रधानमंत्री, युवा हृदय सम्राट एवं भारत रत्न स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की जयंती पर किया नमन

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने पुष्पांजलि देकर पूर्व प्रधानमंत्री, युवा हृदय सम्राट एवं भारत रत्न स्वर्गीय श्री राजीव गांधी की जयंती पर किया नमन

chhattisgarh
रायपुर. पूर्व प्रधानमंत्री, युवा हृदय सम्राट एवं भारत रत्न स्वर्गीय श्री राजीव गांधी जी के जयंती पर गृहमंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया। उन्होंने कहा कि स्वर्गीय श्री राजीव गांधी जी देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री रहे। उन्होंने अपने कार्यों और देशहित में लिये फैसलों से देश की जनता के दिलों में अमिट छाप छोड़ी है। देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री रहे श्री राजीव ने अपने कार्यों और देशहित में लिये फैसलों से लोगों के दिलों में किया राज: श्री ताम्रध्वज साहू गृहमंत्री श्री साहू ने कहा है कि राजीव गांधी की पहल पर भारत में दूरसंचार क्रांति आई। 1984 में भारतीय दूर संचार नेटवर्क की स्थापना, गाँव में पी.सी.ओ लगना और एम.टी.एन.एल. की स्थापना भी इन्ही के दौर में पूरी हुई। उनकी पहल से शहर से लेकर गांवों तक दूरसंचार का जाल बिछना शुरू हुआ, जिससे दूरसंचार क्षेत्र में और ...
रायपुर : अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष ने पदभार ग्रहण किया

रायपुर : अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष ने पदभार ग्रहण किया

chhattisgarh
रायपुर. आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम के निवास कार्यालय में आज अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के नवनियुक्त अध्यक्ष श्री भुनेश्वर शोभाराम बघेल और उपाध्यक्ष द्वय श्री किस्मत लाल नंद एवं श्रीमती उत्तरी गनपत जांगड़े ने अपने-अपने पद का कार्यभार ग्रहण किया। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष श्री सलाम रिजवी, अध्यक्ष अल्प संख्यक आयोग श्री महेन्द्र छाबड़ा, अनुसूचित जाति प्राधिकरण के सचिव और संभाग आयुक्त दुर्ग श्री जी.आर. चुरेन्द्र भी उपस्थित थे। मंत्री डॉ. टेकाम ने प्राधिकरण के नवनियुक्त अध्यक्ष और उपाध्यक्षों को पदभार ग्रहण करने पर बधाई और शुभकामनाएं देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। उन्होंने आशा व्यक्त की कि नवनियुक्त सभी पदाधिकारी पूरी उर्जा और कर्तव्यनिष्ठा से अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे। कार्यक्रम का संचालन करते हुए उपायुक्त दुर्ग श्री आ...
राज्य कृषक कल्याण परिषद के नवनियुक्त अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने किया पदभार ग्रहण, मंत्री रविंद्र चौबे ने दी बधाई

राज्य कृषक कल्याण परिषद के नवनियुक्त अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने किया पदभार ग्रहण, मंत्री रविंद्र चौबे ने दी बधाई

chhattisgarh, politics
रायपुर। राज्य कृषक कल्याण परिषद के नवनियुक्त अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने आज यहां शंकर नगर स्थित कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे के निवास कार्यालय में आयोजित संक्षिप्त कार्यक्रम में अपना पदभार ग्रहण किया। इस अवसर पर कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविंद्र चौबे ने उन्हें नए दायित्व के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी। मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि सुरेंद्र शर्मा कृषक हैं। खेती-किसानी और किसानों की स्थिति की उन्हें अच्छी जानकारी है। उनके मार्गदर्शन में कृषक कल्याण परिषद किसानों के हितों में संचालित शासकीय योजनाओं, कार्यक्रमों का लाभ बेहतर तरीके से पहुंचाने में सफल होगी। इस अवसर पर मछुआ कल्याण बोर्ड के नवनियुक्त अध्यक्ष एम. आर. निषाद, छत्तीसगढ़ अंत्यावसायी सहकारी वित्त एवं विकास निगम के नवनियुक्त अध्यक्ष धनेश पाटिला एव अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।...
कोरोना महामारी के समय विश्व विख्यात आयुर्वेदिक चिकित्सक सोशल मीडिया में व्यस्त है जबकि उन्हें अस्पताल में होना चाहिये – विकास तिवार, कांग्रेस

कोरोना महामारी के समय विश्व विख्यात आयुर्वेदिक चिकित्सक सोशल मीडिया में व्यस्त है जबकि उन्हें अस्पताल में होना चाहिये – विकास तिवार, कांग्रेस

chhattisgarh, politics
रायपुर. छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह से अनुरोध करते हुवे कहा है कि कोरोना कोविड 19 महामारी के राज्य में चिकित्सकों की बहुतायत कमी हो रही है जिसके के कारण खुद पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह है। भाजपा शासन काल मे विशेषज्ञ चिकित्सको के कुल रिक्त पद 1525 थे जिसमें मात्र 175 पदों में ही नियुक्ति की गयी थी। उसी प्रकार चिकित्सा अधिकारी के 689 पर रिक्त रहे जिसका खामियाजा आज पूरे प्रदेश को भोगना पड़ रहा है। रमन सरकार का एकमात्र लक्ष्य कमीशनखोरी करना था। इस कारण बड़े पैमाने में विशेषज्ञ एवं चिकित्सा अधिकारियों भर्ती नही की गयी थी। इसके अलावा मेडिकल स्टाफ,नर्सिंग स्टाफ,लैब टेक्नीशियन की भी भर्ती रमन सरकार के समय नही की गयी थी, जबकि किसी भी राज्य में मूलभूत स्वास्थ सुविधाओ और अधोसंरचना निर्माण सरकार की प्राथमिकता होती है पर रमन राज में प्रद...
छत्तीसगढ़ : कांग्रेस नेताओं ने राज्यपाल से मुलाकात करके राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा, राजस्थान में विशेष सत्र बुलाने की मांग रखी

छत्तीसगढ़ : कांग्रेस नेताओं ने राज्यपाल से मुलाकात करके राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा, राजस्थान में विशेष सत्र बुलाने की मांग रखी

chhattisgarh, politics
रायपुर. राजस्थान के सियासी माहौल को देखते हुए छत्तीसगढ़ कांग्रेस के नेताओं ने राष्ट्रपति के नाम राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा। राजधानी के राजभवन पहुंचकर नेताओं ने राज्यपाल अनुसुइया उइके से मुलाकात की। कांग्रेस के करीब 1 दर्जन नेताओं ने मांग पत्र राज्यपाल को दिया। इसमें कहा गया है कि राजस्थान में लोकतांत्रिक तरीके से निर्वाचित कांग्रेस के नेता अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली सरकार को जिस तरह से गिराने का कुचक्र भारतीय जनता पार्टी के सहयोग से किया जा रहा है वह लोकतांत्रिक और संवैधानिक मूल्यों की हत्या करने के समान है। कांग्रेस ने राष्ट्रपति से मांग करते हुए पत्र में लिखा है कि हमारी आपसे अपेक्षा है देश के संवैधानिक और प्रजातांत्रिक दांचों को बनाए रखने की मांग करते हुए राजस्थान में विधानसभा का विशेष सत्र तत्काल बुलाया जाए या अलोकतांत्रिक कृत्य पर रोक लगाते हुए प्रकरण में हस्तक्षेप करें। नेताओं...
महाभारत के संजय नहीं है सुनील सोनी जो घर बैठे कर कोरोना महामारी रोकने पर अपनी राय दे – धनंजय सिंह ठाकुर, कांग्रेस

महाभारत के संजय नहीं है सुनील सोनी जो घर बैठे कर कोरोना महामारी रोकने पर अपनी राय दे – धनंजय सिंह ठाकुर, कांग्रेस

chhattisgarh, politics
रायपुर 27 जुलाई 2020. भाजपा सांसद सुनील सोनी के बयान पर कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह की तरह सांसद सुनील सोनी भी बयानवीर है। रमन सिंह के तरह ही सुनील सोनी घर बैठे मीडिया में बने रहने कपोलकल्पित मनगढ़ंत झूठी कहानी गढ़कर बयानबाजी कर रहे है। सांसद सुनील सोनी महाभारत के संजय नहीं है जो घर बैठकर कोरोना महामारी रोकने की जा रही उपायों की समीक्षा करें।कोरोना महामारी संकट काल मे रायपुर की जनता सांसद सोनी को ढूंढ रही है। सांसद ने कोरोना महामारी संकट में रायपुर संसदीय क्षेत्र की जनता को किसी प्रकार से सहयोग नही किया। कोरोना महामारी रोकने की जा रही उपायों में सांसद सुनील सोनी का कोई योगदान नहीं है। कोरोना महामारी संकटकाल से निपटने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने शुरू से ही चुस्त-दुरुस्त व्यवस्था ...
वीडियो : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा ‘सत्ता लोभी पार्टी बन गई है भाजपा, आओ हम सब लोकतंत्र बचाने के लिए आगे आएं’

वीडियो : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा ‘सत्ता लोभी पार्टी बन गई है भाजपा, आओ हम सब लोकतंत्र बचाने के लिए आगे आएं’

chhattisgarh, india, politics
राजस्थान में राज्यपाल द्वारा विधानसभा बुलाने से इंकार किए जाने के बाद एआईसीसी के निर्देश पर पूरे देश में कांग्रेस नेताओं द्वारा लोकतंत्र बचाओ अभियान चलाया गया। सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि भाजपा सत्ता लोभी पार्टी के रूप में परिवर्तित हो चुकी है। केंद्र में बैठी सरकार हमारे एक-एक संवैधानिक ढांचे को कमजोर करती जा रही है। चुनी हुई सरकार को गिराने का काम लगातार जारी है। इसके अनेक उदाहरण हैं। राजस्थान में वो चुनी हुई सरकार को काम करने नहीं दे रही है। केंद्र के इशारे पर राजस्थान के राजभवन में जो कुछ घटित हो रहा है, वह सब आप देख रहे हैं। किसी भी मुख्यमंत्री को विधानसभा बुलाने का अधिकार है, लेकिन उसे भी रोका जा रहा है, जो निंदनीय है और इस संविधान को कमजोर करने वाला है। आओ हम सब लोकतंत्र बचाने के लिए आगे आएं। वहीं स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने कहा कि फासिस्टवादी भाजपा के नेतृत्व और उनके लोग प्...
वीडियो : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना में लापरवाही ना बरतने की दी हिदायत

वीडियो : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना में लापरवाही ना बरतने की दी हिदायत

chhattisgarh, politics
रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि कोरोना किसी को भी हो सकता है। ऐसे में लापरवाही बिल्कुल भी न करें और मास्क पहने, सरकारी गाइडलाइन्स का पालन करे। तेजी से बढ़ रहे संक्रमण के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लोगों से नियमों का पालन करने की अपील की है। उन्होंने कहा- कोरोना का संक्रमण किसी को भी हो सकता है। इससे घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन इसमें लापरवाही नहीं करें। सरकार की ओर से जारी नियमों का पालन करें। मुख्यमंत्री ने कहा, छत्तीसगढ़ में अभी दिल्ली-मुंबई जैसी स्थिति नहीं है। प्रदेश में बेड की प्रर्याप्त व्यवस्था है। प्राइवेट अस्पतालों को भी निर्देश दिए गए हैं। छत्तीसगढ़ में कोरोना के मामले लगातार बढ़ने लगे हैं। प्रदेश में अभी तक संक्रमित मरीजों की संख्या 6819 पहुंच गई है। इनमें 37 मरीजों की मौत हो चुकी है। जबकि एक्टिव केस 2216 हो गए हैं। हालांकि 4567 मरीजों के स्वस्थ होने के बा...
छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल की सरकार वादे पूरे करने वाली सरकार, शिक्षाकर्मियों के संविलियन पर बोले कांग्रेस प्रवक्ता शैलेश नितिन त्रिवेदी

छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल की सरकार वादे पूरे करने वाली सरकार, शिक्षाकर्मियों के संविलियन पर बोले कांग्रेस प्रवक्ता शैलेश नितिन त्रिवेदी

chhattisgarh, politics
रायपुर/24 जुलाई 2020। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शिक्षाकर्मियों के संविलियन का आदेश जारी किए जाने का स्वागत करते हुए कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कांग्रेस की सरकार, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार वादे पूरे करने वाली सरकार है। करोना संक्रमण के कारण तमाम वित्तीय परेशानियों के बावजूद शिक्षाकर्मियों का संविलियन का आदेश जारी करके मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने बहुत बड़ा कदम उठाया है। 2003 में भाजपा की सरकार शिक्षाकर्मियों के संविलियन का वादा करके बनी थी लेकिन भाजपा ने 2003 से लेकर 2018 तक शिक्षाकर्मियों के संविलियन के लिए एक रुपए की राशि का भी प्रावधान नहीं किया। शिक्षाकर्मियों के संविलियन की घोषणा तो की गई लेकिन बिना किसी वित्तीय प्रावधान के। 2018 में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद शिक्षाकर्मियों के संविलियन के लिए राशि की व्यवस्था भी की गई और शिक्षाकर्म...