Shadow

प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा- जान भी जहान भी, लॉकडाउन 2 हफ्ते बढ़ने के आसार, पीएम गमछे का मास्क पहने आये नज़र

नई दिल्ली | कोरोना वायरस को लेकर देश में लगे लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रही मीटिंग के दौरान दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लॉकडाउन को बढ़ाने की मांग की है। वहीं दूसरी तरफ कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी सीएम के इस प्रस्ताव का समर्थन किया। वहीं वह भी इस लॉकडाउन को बढ़ाने के समर्थन में नजर आ रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रही मीटिंग के दौरान दिल्ली, पंजाब और उड़ीसा के मुख्यमंत्रियों ने पीएम मोदी को लॉक डाउन बढ़ाने का सुझाव दिया है। इससे पहले राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना के मुख्यमंत्रियों ने लॉक डाउन बढ़ाने के लिए कह चुके हैं।

वहीं बैठक के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कहा कि मैं 24 घंटे उपलब्ध हूं और आप मुझसे कोरोनावायरस को लेकर कभी भी चर्चा कर सकते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि कोई भी मुख्यमंत्री मुझे सुझाव दे सकता है और वहीं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पीएम मोदी अपने चेहरे पर गमछा लगाए नजर आए।

प्रधानमंत्री ने कहा- जान है तो जहान है

बैठक में प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों से कहा- ‘‘मैं चौबीस घंटे, सातों दिन फोन पर उपलब्ध हूं। कोई भी मुख्यमंत्री कभी भी मुझे सुझाव दे सकता है।’’ उन्होंने कहा- ‘‘जान है तो जहान है। जब मैंने राष्ट्र के नाम संदेश दिया था, तो शुरुआत में इस पर जोर दिया था कि हर नागरिक की जान बचाने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बहुत जरूरी है।

देश के ज्यादातर लोगों ने बात को समझा और घरों में रहकर दायित्व निभाया। अब भारत के उज्जवल भविष्य के लिए, समृद्ध और स्वस्थ भारत के लिए जान भी, जहान भी, दोनों पहलुओं पर ध्यान देना जरूरी है। जब देश का प्रत्येक व्यक्ति जान भी और जहान भी, दोनों की चिंता करते हुए अपने दायित्व निभाएगा, सरकार और प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पालन करेगा, तो कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई और मजबूत होगी।’’

प्रधानमंत्री ने कहा- आरोग्य सेतु ऐप का ई-पास के तौर पर इस्तेमाल हो सकता है

  • प्रधानमंत्री ने कहा कि आरोग्य सेतु ऐप कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जरूरी हथियार है। इससे संभावना मिली है कि इसे एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए ई-पास के तौर पर इस्तेमाल किया जाए।
  • प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में सुझाव दिया कि किसान खेतों में जो उगाते हैं, उसकी डायरेक्ट मार्केटिंग पर उन्हें इंसेंटिव देना चाहिए ताकि मंडियों में भीड़ जमा होने से रोका जा सके। इसके लिए नियमों में बदलाव करने चाहिए। इस तरह के कदम उठाने से किसान लोगों के दरवाजे तक अपनी उपज पहुंचा पाएंगे।
  • प्रधानमंत्री ने बताया कि वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जो कदम उठाए जा रहे हैं, वो अगले तीन से चार हफ्तों में निर्णायक साबित होंगे। इस चुनौती से निपटने के लिए टीमवर्क जरूरी होगा।
    मोदी ने कहा कि कालाबाजारी और जमाखोरी नहीं होनी चाहिए। पूर्वोत्तर और कश्मीर के छात्रों और हेल्थ वर्कर्स पर हमले निंदनीय हैं।
  • उन्होंने भरोसा दिलाया कि भारत में जरूरी दवाओं का पर्याप्त स्टॉक है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे फ्रंट लाइन वर्कर्स के लिए प्रोटेक्टिव गियर और जरूरी उपकरण मुहैया कराने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं।

 

RO-11274/73

Leave a Reply