Shadow

रायपुर : वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने राज्य के चिड़िया घरों और वन्य प्राणी केन्द्रों में सुरक्षात्मक उपायों की गहन समीक्षा की

md-akbar-zoo-inspection-during-coronavirus-8-april-2020

रायपुर. वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर आज यहां राजधानी स्थित अपने निवास कार्यालय में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर राज्य के समस्त राष्ट्रीय उद्यानों, अभ्यारण्यों, चिड़िया घरों और वन्यप्राणी केन्द्रों में सुरक्षात्मक उपायों तथा वहां मानव प्रवेश पर रोक के संबंध में बैठक लेकर गहन समीक्षा की। उन्होंने ब्रांक्स जू न्यूयार्क में रखे गए टायगर को कोरोना संक्रमण के कारण केन्द्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय, केन्द्रीय चिड़िया घर प्राधिकरण तथा राष्ट्रीय व्याघ्र संरक्षण प्राधिकरण द्वारा 6 अप्रैल को जारी दिशा-निर्देशों का राज्य में संबंधित विभागीय अधिकारियों को पूर्णतः पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। वन मंत्री श्री अकबर ने इसके तहत राज्य के समस्त चिड़िया घरों तथा वन्य प्राणी केन्द्रों में मानव प्रवेश तथा इनके आवा-जाही पर रोक और इनमें कोरोना संक्रमण की आशंकाओं को ध्यान में रखते हुए पर्याप्त सुरक्षात्मक उपाय भी सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया।

वन मंत्री श्री अकबर ने बताया कि राज्य के समस्त चिड़िया घरों तथा वन्य प्राणी केन्द्रों में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर विगत 15 मार्च से मानव प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। वर्तमान में केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु मंत्रालय द्वारा जारी निर्देशों के पालन सुनिश्चित करने के लिए आज संबंधित विभागीय अधिकारियों की यह बैठक ली गई है। इसमें जारी दिशा-निर्देशों के संबंध में सभी संबंधित विभागीय अधिकारियों को अवगत करा दिया गया हैै। वन मंत्री श्री अकबर ने बैठक में राज्य के समस्त चिड़िया घरों तथा वन्य प्राणी केन्द्रों पर उच्च निगरानी रखने और यहां कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाने पर संदिग्ध मामलों में तत्काल नमूना लेने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। साथ ही जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप हर आवश्यक सावधानी बरतने की सलाह भी दी।

वन मंत्री श्री अकबर ने बताया कि वर्तमान परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए आज नवा रायपुर स्थित जंगल सफारी के पूरे कैम्पस तथा चिड़िया घर क्षेत्र को सेनेटाईज करने का कार्य नगर निगम रायपुर के माध्यम से पूर्ण करा लिया गया है। इसी तरह बिलासपुर वनमंडल द्वारा नगर निगम बिलासपुर के माध्यम से कानन पेण्डारी चिड़िया घर बिलासपुर को भी सेनेटाईज करने की कार्यवाही पूर्ण कर ली गई है। इसके अलावा भिलाई स्टील प्लांट को मैत्री बाग के संबंध में भारत सरकार की एडवाईजरी से अवगत करा दिया गया है। नंदनवन रायपुर में 8 अप्रैल 2020 को सेनेटाईजर का कार्य किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राज्य के चिड़िया घरों तथा सफारी में कार्यरत समस्त अधिकारी एवं कर्मचारियों के द्वारा व्यक्तिगत हाईजिन तथा कैम्पस की साफ-सफाई का विशेष रूप से ध्यान रखा जा रहा है। इसके लिए सेनेटाईजर से आवश्यक वस्तुओं की व्यवस्था भी की जा रही है।

वन मंत्री श्री अकबर ने बताया कि जंगल सफारी नवा रायपुर में वर्तमान में टायगर लाॅयन, तेंदूआ, भालू, हिरण, साम्भर, नीलगाय, कोटरी और चीतल आदि वन्य प्राणी हैं। राज्य में तीन टायगर रिजर्व अचानकमार, टायगर रिजर्व, उदन्ती सीता नदी, टायगर रिजर्व ओर इंद्रावती टायगर रिजर्व हैं। इन सभी स्थानों में 15 मार्च 2020 से मानव प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। इसके अलावा राष्ट्रीय उद्यानों तथा अभ्यारण्यों में भी 15 मार्च से मानव प्रवेश पर रोक है। जिन-जिन नेशनल पार्को में रोक लगाई गई है, इनमें कांकेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान, बस्तर तथा गुरू घासीदास राष्ट्रीय उद्यान कोरिया में भी मानव प्रवेश पर रोक है। इसी प्रकार राज्य के अभ्यारण्यों तमोर पिंगला-सरगुजा, सेमर सोत-बलरामपुर, बादलखोल-जशपुर, गोमर्ढा-रायगढ़, पामेड़-बस्तर, भैरमगढ़-बस्तर, भोरमदेव-कवर्धा के साथ-साथ बार-नवापारा अभ्यारण्य में भी आवा-जाही पर पूरी तरह से रोक लगाई गई है।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव वन श्री मनोज पिंगुआ, प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री राकेश चतुर्वेदी, प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) श्री अतुल कुमार शुक्ल, अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) श्री अरूण पाण्डेय सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

RO-11274/73

Leave a Reply