Shadow

रायपुर : लॉकडाउन में भी तेजी से बनाए जा रहे हैं राशनकार्ड : अब तक बनाए गए 29,683 नए राशनकार्ड

cm-bhupesh-speaks-with-cg-police

रायपुर. कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों की सुरक्षा के लिए किए गए लॉकडाउन के दौरान मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देश पर प्रदेश के सभी गरीब परिवारों को दो माह का एकमुश्त निःशुल्क खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी कलेक्टरों को जिलों में सभी लोगों को खाद्यान्न समय पर उपलब्ध कराने को कहा है। मुख्यमंत्री के निर्देशों के अनुरूप खाद्य विभाग द्वारा लॉकडाउन के दौरान राज्य के ऐसे पात्र हितग्राही जिनके राशनकार्ड नहीं बन पाए थे, उनके नये राशनकार्ड बनाये जा रहे है साथ ही परिवार के छूटे हुए सदस्यों का नाम भी राशनकार्डों में जोड़ने का काम तेजी से किया जा रहा है। खाद्य विभाग द्वारा लॉकडाउन प्रारंभ होने के बाद से अब तक प्रदेश में कुल 29,683 नए राशनकार्ड बनाए जा चुके हैं और पूर्व से बने राशनकार्डों में छूटे हुए लगभग 44,394 नए सदस्यों के नाम जोड़े जा चुके हैं। नए राशन कार्ड बनने और नाम जुड़ने से लोगों को इस विपदा की घड़ी में काफी राहत मिली।

खाद्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के अन्त्योदय, प्राथमिकता, एकल निराश्रित, निःशक्तजन व अन्नपूर्णा श्रेणी के राशनकार्डधारियों को अप्रैल व मई 2020 माह का एकमुश्त चावल निःशुल्क वितरित किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त सामान्य श्रेणी के राशनकार्डधारियों को भी 10 रूपए प्रति किलो रियायती दर पर चावल वितरित किया जा रहा है। राज्य के नागरिकों के साथ-साथ लॉकडाउन के कारण राज्य में फंसे अन्य प्रदेशों के श्रमिकों-गरीबों के लिए भी खाद्यान्न के समुचित प्रबंध संवेदनशीलता व तत्परता के साथ राज्य सरकार द्वारा किया जा रहा है। लॉकडाउन के दौरान राज्य में खाद्य विभाग द्वारा जिला प्रशासन के माध्यम से अब तक 8.82 लाख लोगों को भोजन उपलब्ध कराया जा चुका है और लगभग 8.75 लाख लोगों को निःशुल्क राशन प्रदाय किया गया है। खाद्य विभाग के सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह ने जिला कलेक्टरों से कहा है कि राशनकार्ड बनाने की प्रक्रिया सतत चलने वाली प्रक्रिया है। अतः राशनकार्ड बनाने के लिए छूटे हितग्राहियों से  आवेदन प्राप्त होने पर तत्काल नियमानुसार राशनकार्ड बनाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए।

लाॅकडाउन के दौरान लोगों को राहत देने के लिए रायपुर जिले में 3086 नए राशन कार्ड बनाए गए, इनमें से 2582 बीपीएल और 504 एपीएल कार्ड है। रायपुर जिले में राशन कार्ड में एपीएल और बीपीएल श्रेणी के 4983 सदस्यों के नाम जोड़े गए। दुर्ग जिले में सर्वाधिक 7418 राशन कार्ड बनाए गए इनमें 987 बीपीएल और 6431 एपीएल राशन कार्ड है, दुर्ग जिले में 9963 लोगों के नाम राशन कार्ड में जोड़े गए, इसी प्रकार बलौदाबाजार जिले में 3783 नए राशन कार्ड बनाए गए और 802 सदस्यों के नाम जोड़े गए, राजनांदगांव जिले में 3367 नए राशन कार्ड बनाए गए और 4309 लोगों के नाम जोड़े गए, सरगुजा जिले में 2447 नए राशन कार्ड बनाए गए 1892 लोगों के नाम जोड़े गए, रायगढ़ जिले में 1158 नए राशन कार्ड बनाए गए तथा 2614 नाम जोड़े गए, कोरबा जिले में 1100 नए राशन कार्ड बनाए गए और 626 नाम जोड़े गए, दन्तेवाड़ा जिले में 1633 नए राशन कार्ड बनाए गए 695 नाम जोड़े गए, बस्तर जिले में 841 नए राशन कार्ड बनाए गए और 1544 नाम जोड़े गए, बीजापुर जिले में 598 नए राशन कार्ड बनाए गए और 435 नाम जोड़े गए हैं।

कांकेर जिले में 195 नए राशन कार्ड बनाए गए और 649 नए नाम जोड़े गए, कोण्डागांव जिले में 150 नए राशन कार्ड बनाए गए और 1894 नाम जोड़े गए, नारायणपुर जिले में 88 नए राशन कार्ड बनाए गए और 203 नए नाम जोड़े गए। इसी प्रकार सुकमा जिले में 292 नए राशन कार्ड बनाए गए और 595 नाम जोड़े गए, बिलासपुर जिले में 28 नए राशन कार्ड बनाए गए और 1510 नाम जोड़े गए, जांजगीर-चांपा जिले में 246 नए राशन कार्ड बनाए गए और 3056 नाम जोड़े गए, मुंगेली जिले में 44 नए राशन कार्ड बनाए गए और 289 नाम जोड़े गए, बालोद जिले में 209 नए राशन कार्ड बनाए गए और 247 नाम जोड़े गए, बेमेतरा जिले में 122 नए राशन कार्ड बनाए गए और 946 नाम जोड़े गए, कवर्धा जिले में 152 नए राशन कार्ड बनाए गए और 208 सदस्यों के नाम जोड़े गए, धमतरी जिले में 414 नए राशन कार्ड बनाए गए और 1842 नाम जोड़े गए, गरियाबंद जिले में 405 नए राशन कार्ड बनाए गए और 584 नाम जोड़े गए, महासमुंद जिले में 491 नए राशन कार्ड बनाए गए है और 1455 नाम जोडे़ गए, बलरामपुर जिले में 130 नए राशन कार्ड बनाए गए और 68 नाम जोड़े गए, जशपुर जिले में  64 नए राशन कार्ड बनाए गए और 1268 नाम जोड़े गए, कोरिया जिले में 479 नए राशन कार्ड बनाए गए और 949 नाम जोड़े गए, सूरजपुर जिले में 744 नए राशन कार्ड बनाए गए और 768 सदस्यों के नाम जोड़े गए।

RO-11274/73

Leave a Reply