Shadow

राजनांदगांव बागनदी बार्डर उप स्वास्थ्य केन्द्र में नन्ही बिटिया ने लिया जन्म

कोरोना संक्रमण के कठिन दौर में लाकडाउन की स्थिति में राजनांदगांव के बागनदी बार्डर के उपस्वास्थ्य केन्द्र में प्रसूता श्रीमती त्रिवेणी साहू ने नन्ही बिटियां को जन्म दिया। इस घटना की खबर मिलते ही कलेक्टर श्री जयप्रकाश मौर्य ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी के साथ बार्डर पर उपस्वास्थ्य केन्द्र पहुंचकर प्रसूता श्रीमती त्रिवेणी साहू से मिलकर जच्चा-बच्चा के स्वास्थ्य की जानकारी ली। कलेक्टर श्री मौर्य ने श्रीमती त्रिवेणी साहू को बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र एवं बेबी किट प्रदान किया। उन्होंने एएनएम रौशनी सिंह के हौसले और स्वास्थ्य विभाग के त्वरित स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के जज्बे की प्रशंसा की और उन्हें बहुत धन्यवाद कहा।

पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्र शुक्ल ने कठिन परिस्थिति में बार्डर के उपस्वास्थ्य केन्द्र में श्रीमती त्रिवेणी के सुरक्षित प्रसव पर खुशी जताई और स्वास्थ्य विभाग की टीम एवं सहयोगी पुलिस जवानों की सराहना की। जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने कहा कि उनका पूरा प्रयास रहता है कि जिले के सभी अस्पतालों में आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाओं के लिए सभी आवश्यक उपकरण और दवाएं उपलब्ध रहें और विभाग की पूरी टीम किसी भी समय पर अपातकालीन सेवाएं देने के लिए पूरे प्रेरित करते है। कोरोना संक्रमण काल के संकट के समय मे जिले के स्वास्थ्य विभाग का पूरा अमला पूरी ऊर्जा और सजगता से 24 घंटे स्वास्थ्य सेवाएं देने के लि पूर्णत: तैयार खड़ी है और जनता के साथ है।

प्रसूमा श्रीमती त्रिवेणी साहू के पूरे परिवार की कोरोना जांच की गई, जो नेगेटिव आए थे। उसके बाद उन्हें भोजन कराकर आवश्यक दवाईयों की समझाईश देकर शासकीय एम्बुलेंस से उनके गांव कटई बेमेतरा के लिए रवाना कर दिया गया। जिला राजनांदगांव की जागरूक स्वास्थ्य टीम और उपस्वास्थ्य केन्द्र की एएनएम रौशनी सिंह ने मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य की सफल देखभाल कर एक मिसाल पेश की है और स्वास्थ्य विभाग के मानवीय चिकित्सा सेवाओं के प्रति जनता का विश्वास बढ़ाया है। राजनांदगांव स्वास्थ्य विभाग ने बागनदी बार्डर पर स्थित उपस्वास्थ्य केन्द्र को उन्नत कर हैल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर के रूप में विकसित करने का प्रस्ताव राज्य शासन को भेज दिया है।

RO-11274/73

Leave a Reply